द्वादश /१२ वें घर/ भाव में स्थित बुध का फल और आपका प्रेम, विवाह, हानि

Mercury In 12th House Love, Sex, Marriage, Career, Loss, Health, Jail

द्वादश /१२ वें घर/ भाव में स्थित बुध का फल प्रेम, विवाह, शयन सुख, सेक्स, हानि और व्यय, जेल, विदेश संबंध और विदेश निवासी बंदोबस्त: –  बारहवें भाव में बुध जातक को अंतर्मुखी बना देगा, विशेष रूप से जीवन के प्रारंभिक वर्षों में। जातक को अलगाव/एकांत में रहने और कल्पनाशील प्रेम-प्रसंग स्थिति के प्रति प्रेम होगा। जातक जीवन में कवि, संपादक, लेखक और पत्रकार बन सकता है। 

लग्न से द्वादश भाव में बुध ग्रह-सभी लग्न के लिए

१२वें भाव में स्थित बुध ३३ वर्ष की आयु तक जीवन में बहुत परेशानी, धन की कमी और अन्य तनाव देता है। ३५ साल की उम्र से जातक की कमाई अपने चरम पर पहुंच जाती है। जातक स्वभाव से बहुत जिद्दी और स्वार्थी होगा। कुछ मूर्खतापूर्ण निर्णय उनके जीवन में नुकसान और पीड़ा ला सकते हैं।

लग्न से बारहवें घर में बुध,सभी लग्न के लिए-सामान्य प्रभाव:- बारहवें घर में बुध का प्रभाव और परिणाम एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में अलग-अलग हो सकता है क्योंकि १२ वें घर में अलग-अलग राशियों की स्थिति, हानिकारक और लाभकारी गरिमा, डिग्री, पहलू, पीड़ा, संयोजन, युति बुध 12वें भाव में, बुध विभिन्न नक्षत्रों में तथा 12वें भाव का बल और मान।

ऑनलाइन ज्योतिष पाठ्यक्रम

द्वादश भाव में बुध तत्वविज्ञान और ज्योतिष के प्रति प्रेम देता है। जातक शिक्षा और करियर सहित जीवन की गतिविधियों में अपरंपरागत और कभी-कभी अनुशासनहीन या आलसी होगा। जब दूसरों से अपना काम निकालने की बात आती है तो जातक आकर्षक और चतुर होगा।

इस घर में बुध पहल करने को लेकर जीवन में बहुत भय और भ्रम देता है। बारहवें भाव में स्थित बुध जातक को कुछ मामलों में झूठा और पाखंडी बना सकता है। जातक को अपने जीवन में विपरीत लिंग का सहयोग प्राप्त होगा। इस घर में बुध युवावस्था में हड्डियों और फेफड़ों में परेशानी लाता है।

 

कुंडली में बुध बारहवें भाव में-प्रेम विषय 

इस घर में बुध ग्रह आपको प्रेम संबंध और अल्पावधि आकस्मिक गुप्त संबंध में असफलता देता है । बहुत ही रोमांटिक मुलाक़ातों में जोश जगाएगा लेकिन सभी दर्दनाक अनुभवों और उदासी के साथ थोड़े समय के लिए रहेंगे। जातक को २७ या ३२ वर्ष की आयु के बाद सही वर/वधु मिल सकता है।

जातक को अपने जीवन में, विशेष रूप से अपने निजी रोमांटिक जीवन में बहुत दुखों का सामना करना पड़ेगा। जातक अपनी कम उम्र में बोरियत और अकेलापन महसूस कर सकता है।

१२वें भाव में बुध-विवाह और शयन सुख

जातक अपने जीवन में दो बार विवाह कर सकता है। बेवफाई की स्थिति में जीवनसाथी से तलाक या अलगाव हो सकता है। जातक अपने जीवनसाथी को धोखा दे सकता है। जीवनसाथी के साथ यौन संबंध खराब होंगे और विवाह के बाद यौन समस्या हो सकती है। शुक्राणु संख्या कम होगी । जातक की जीवनसाथी के साथ अधिक शारीरिक अनुकूलता नहीं होगी। गर्भपात या देर से संतान की समस्या हो सकती है। यदि पंचम ईश कमजोर और पाप ग्रहों से युक्त हो तो कुछ लोगों के जीवन में हो सकतासक्ता है कि कोई संतानप्राप्ति न हो।

कुंडली में बारहवें भाव में बुध – करियर पर प्रभाव  

जातक अपने व्यवसाय में बहुत अंतर्ज्ञान-युक्त होगा और एक मनोवैज्ञानिक या ज्योतिषी बन सकता है। जातक डिजिटल माध्यम से, लेखन, अभिनय से पैसा कमाएगाऔर कुछ लोगों का मनोगत क्षेत्र में करियर होगा। इस घर में बुध ऐसा करियर देगा जो सार्वजनिक क्षेत्र के सम्मुख न हो और जो एकांत में हो ।

इस घर में बुध साहसिक खेलों, मार्शल आर्ट्स, मर्चेंट नेवी आदि में करियर देता है। जातक आयात-निर्यात, विदेशी मुद्रा व्यापार, शेयर बाजार में निवेश, आदि से संबंधित व्यवसाय में बहुत अच्छा करेगा। जातक व्यापारी, दलाल, लेखक आदि बन सकता है। जातक को आईटी क्षेत्र या नेटवर्किंग और संचार विभाग आदि में नौकरी मिल सकती है। जातक एक लोकप्रिय रेडियो जॉकी/वक्ता भी बन सकता है।

ज्योतिषी से बात करें

Google Play Store पर हमारे ऐप्स

ऑनलाइन ज्योतिष पाठ्यक्रम

कुंडली में बुध बारहवें भाव में – हानि/ व्यय

३० वर्ष की आयु तक जातक का अपनी वास्तविक आय से अधिक व्यय होगा। जातक उच्च श्रेणी के भव्य जीवन शैली का संचालन करेगा और उच्च वर्ग के लोगों के साथ उसके संपर्क होंगे। ३० वर्ष की आयु तक नकदी और बचत की कमी रहेगी। जातक बहुत कम आय से अपनी यात्रा और व्यवसाय शुरू करेगा लेकिन जीवन के मध्य वर्षों में वित्त और करियर के मामले में बहुत ऊंचाई तक पहुंचेगा।

बुध द्वादश भाव में – और आपका स्वास्थ्य 

जातक को कुष्ठ रोग, रक्ताल्पता, बालों का झड़ना, थायरॉइड आदि से पीड़ित हो सकता है। इन रोगों के उपचार के लिए जातक के बहुत खर्चे होंगे जिनमें पीलिया, तंत्रिका संबंधी समस्याएं आदि शामिल हैं। जातक दांतों की सड़न और रक्तचाप के मुद्दों से भी पीड़ित हो सकता है। जातक के शरीर में प्रतिरक्षा प्रणाली और चयापचय अच्छा नहीं होगा। वह बहुत मोटा या बहुत आसानी से बहुत पतला हो सकता है।

बुध द्वादश भाव में – विदेश निवासी बंदोबस्त

इस घर में बुध ग्रह के साथ जातक शिक्षा के साथ-साथ करियर के कारण विदेश में या जन्म स्थान से दूर अस्थायी रूप से बसेंगे। विदेश में रहने के साथ जातक के जीवन में कई यात्राएं होंगी। हालांकि जातक को जीवन में, विशेष रूप से विदेश में किसी भी प्रकार की निजी संपत्ति का अभाव रहेगा । जातक अपनी किशोरावस्था और जीवन के युवा वर्षों के दौरान जीवनसाथी के घर या किराए के घर में रहेगा।

जन्म कुण्डली में बुध बारहवें भाव में – कारावास/ जेल

इस घर में बुध जातक को किसी भी तरह के एकांतवास, जेल या किसी कानूनी परेशानी से मुक्त करता है। कुछ मुकदमेबाजी के मुद्दे सामने आ सकते हैं लेकिन जातक उन सभी समस्याओं को कूटनीतिकता और चतुराई से हल करने में सक्षम होगा। जातक के जीवन में न्यायपालिका या कानूनी पेचीदगियां नहीं होंगी, विशेषकर तब जब षष्ठेश और द्वादशेश बिना किसी हानिकारक प्रभाव के बली हों। जातक किसी भी बुरी घटना से बच जाएगा और गुप्त शत्रुओं से और प्रतियोगिता में भी विजयी होगा।

वैदिक ज्योतिष में बारहवें भाव में बुध का विशेष प्रभाव

इस घर में बुध ग्रह विदेश में या जन्म स्थान से दूर शिक्षा दे सकता है। जातक के जीवन में अधिक आध्यात्मिक और धार्मिक झुकाव नहीं होगा और अपनी लगभग सभी आय-खर्च करने के साथ स्वतंत्र रूप से जीवन का आनंद लेंगे। हालांकि जातक धनवान होगा और जीवन में पर्याप्त धन अर्जित करेगा । जातक एक शानदार जीवन व्यतीत करेगा लेकिन परिवार में कुछ समस्याएँ होंगी और जीवनसाथी और बच्चों को लेकर भी कुछ समस्याएँ होंगी। जातक कई देशों में भ्रमण करेगा।

ज्योतिषी से बात करें

Google Play Store पर हमारे ऐप्स

ऑनलाइन ज्योतिष पाठ्यक्रम

We use cookies in this site to offer you a better browsing experience. By browsing this website, you agree to our use of cookies & privacy policies.