मेष राशि में – १, २, ३, ४, ५, ६, ७, ८, ९, १०, ११, १२वें भाव का फल – ज्योतिष में

मेष राशि में – १, २, ३, ४, ५, ६, ७, ८, ९, १०, ११, १२वें भाव का फल - ज्योतिष में

मेष राशि में – १, २, ३, ४, ५, ६, ७, ८, ९, १०, ११, १२वें भाव वैदिक ज्योतिष में – जन्म कुंडली में: मेष राशि कुंडली में किसी चीज़ की शुरुआत का संकेत देती है। नया और ऊर्जावान। 20 मार्च से 20 अप्रैल तक सूर्य का मेष राशि में गोचर साल में एक बार होता है। हालांकि, भारतीय वैदिक ज्योतिष के माध्यम से यह कहा गया है कि सूर्य मेष राशि में 14 अप्रैल से 14 मई तक गोचर करता है। नीचे, हम जन्म कुंडली में सभी 12 अलग-अलग घरों में मेष राशि के प्रभाव के बारे में चर्चा करने जा रहे हैं।

मेष राशि में – पहले, दूसरे, तीसरे, चौथे, 5,6,7,8,9,10,11,12वें भाव में

वैदिक ज्योतिष के प्रिज्म से विभिन्न भावों में मेष राशि का प्रभाव:-

मेष राशि कुंडली में पहले घर में

यदि मेष राशि आपकी कुंडली के पहले घर में D1 चार्ट में आती है तो आप आवेगी, ऊर्जावान, केंद्रित और बहुत सक्रिय होंगे। आप अपने शारीरिक श्रम से अपना काम पूरा करेंगे।

व्यक्ति जीवन में कुछ महत्वपूर्ण करने के लिए सक्रिय और प्रेरित होगा और अपने समाज, शहर या देश पर अपनी छाप छोड़ेगा। जीवन में क्रोध और स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं होंगी। सफलता 28 साल की उम्र के बाद मिलती है।

स्वतंत्र कार्य या राजनीति से सफलता मिलने की प्रबल संभावना है। आपका आवेगी और भावुक स्वभाव आपको जीवन में समर्पण दे सकता है लेकिन आप आसानी से जो कुछ भी करते हैं उसमें आपकी रुचि कम हो सकती है।

ऑनलाइन ज्योतिष पाठ्यक्रम में दाखिला लें

मेष राशि कुंडली के दूसरे भाव में 

यदि मेष राशि नेटाल कुंडली में धन के दूसरे भाव में आती है तो आप अपनी संपत्ति, व्यवसाय और धन को लेकर बहुत सुरक्षात्मक होंगे। जीवन में अपने स्वयं के लाभों के बारे में स्वार्थी और आत्मकेंद्रित हो सकता है।

जातक अपनी भौतिकवादी इच्छाओं को प्रयास के माध्यम से और कभी-कभी भाग्य के माध्यम से भी प्राप्त कर सकता है। आप कम उम्र में ज्यादा मेहनत किए बिना पूरे आराम और आनंद से जीवन जीने के इच्छुक होंगे। सफलता 30 साल की उम्र के बाद मिलती है।

कोई अपने परिवार की जड़ों से जुड़ा रहेगा। दूसरे भाव में मेष राशि मेहनत के बाद ही धन देता है लेकिन वह जीवन में धन की बचत नहीं कर पाएगा।

मेष राशि जन्म कुंडली में तीसरे घर में 

यदि मेष राशि जातक की कुंडली में तीसरे भाव में आती है तो वह जनता का या कभी-कभी जनता का पसंदीदा होगा। वह दूसरों के लिए प्रेरणा और सफलता का अग्रदूत बन सकता है।

आप बहुत आक्रामक वक्ता होने के साथ-साथ बौद्धिक भी हो सकते हैं। एक प्रेरक वक्ता और दूसरों के लिए आकांक्षी रोल मॉडल बन सकता है। आपके जीवन के मध्य वर्षों में आपके जीवन में प्रशंसक या अनुयायी हो सकते हैं।

सफलता 29 साल की उम्र के बाद मिलती है । तीसरे भाव में मेष राशि जातक को अचानक ऊर्जा और अचानक आलस्य देती है, इसलिए वह बिना किसी कारण के कई बार सक्रिय और निष्क्रिय हो जाता है। दाम्पत्य जीवन नाटकीय हो सकता है। आप जीवन में अचानक निर्णय ले सकते हैं जो जीवन में नए मार्ग और लक्ष्य तय करेगा।

मेष राशि कुंडली में चौथे घर में

यदि मेष राशि आपकी राशि कुंडली के चौथे घर में आती है तो व्यक्ति एक उत्कृष्ट खिलाड़ी या कुशल प्रबंधक और कार्यवाहक बन सकता है। खाना पकाने का विशेषज्ञ बन सकता है और होटल और रेस्तरां के व्यवसाय के माध्यम से सफलता प्राप्त कर सकता है।

आप एक अच्छे प्रशासनिक अधिकारी भी बन सकते हैं। सफलता 35 वर्ष की आयु के बाद मिलती है। पारिवारिक जीवन थोड़ा समस्याग्रस्त और अराजक हो सकता है। प्रेम संबंधों में असफलता संभव है। देर से विवाह संभव है।

जीवनसाथी भावुक और तर्कहीन स्वभाव का हो सकता है। कम उम्र में आपके वित्त में बहुत उतार-चढ़ाव होगा। आपका लक्ष्य और आकांक्षाएं जल्दी बदल सकती हैं।

ज्योतिष में मेष राशि 5 वें घर में 

यदि मेष राशि जन्म कुंडली में 5वें घर में आती है तो व्यक्ति का प्रदर्शन कला और मनोरंजन के क्षेत्र में बहुत झुकाव होगा। एक्टिंग, डांसिंग, क्लब, पब आपके शौक और आदत बन सकते हैं।

खेल के क्षेत्र में या मनोरंजन के क्षेत्र में व्यवसाय के माध्यम से कुछ लोगों को प्रसिद्धि मिल सकती है। सफलता 25 साल की उम्र के बाद मिलती है। व्यक्ति 34 वर्ष की आयु के बाद संपन्न और धनवान बन सकता है। जीवन पर कई आकस्मिक मामले होंगे।

हालांकि, उनमें से ज्यादातर लंबे समय तक नहीं रहेंगे। शादी के बाद गुपचुप अफेयर की संभावना है। जीवन में रोमांटिक और रचनात्मक कार्यों के लिए जुनून रहेगा।

ज्योतिषी से बात करें

Google Play Store पर हमारे ऐप्स

ऑनलाइन ज्योतिष पाठ्यक्रम में दाखिला लें

वैदिक ज्योतिष में मेष राशि छठे भाव में 

यदि मेष राशि राशि कुंडली में छठे भाव में आती है तो व्यक्ति डॉक्टर, सर्जन, चिकित्सक, नर्स आदि बन सकता है। कुछ लोग पुलिस या रक्षा बल में भी शामिल हो सकते हैं। आप कानून और न्याय के क्षेत्र में भी अच्छा प्रदर्शन कर सकते हैं।

प्रतियोगिता और खेलकूद में जीत से पहचान मिल सकती है। सफलता आमतौर पर 24 साल की उम्र के बाद मिलती है। चोट या स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं समय-समय पर आपको परेशान कर सकती हैं। हालांकि, अच्छी सहनशक्ति के साथ व्यक्ति शारीरिक रूप से स्वस्थ रहेगा।

छठे भाव में मेष राशि का जातक बहुत कठोर और जिद्दी स्वभाव का होता है। आप बहुत पारिवारिक और अपने माता-पिता और भाई-बहनों के प्रति समर्पित हो सकते हैं।

जन्म कुंडली में मेष राशि सातवें घर में

यदि मेष राशि डी1 चार्ट में सातवें भाव में आती है तो जातक अपने जीवनसाथी के साथ काफी ऊर्जा और समय व्यतीत करेगा। आपका ध्यान जीवनसाथी की इच्छा और पारिवारिक सुख पर रहेगा। आप अपने जीवनसाथी पर बहुत पैसा खर्च कर सकते हैं।

दाम्पत्य जीवन में शुरूआती कुछ वर्षों में काफी आकर्षण और आत्मीयता बनी रहेगी। सफलता 22 या 36 साल की उम्र के बाद मिलती है। सही दिशा के साथ जीवन में नए जोश और प्रेरणा के साथ शादी के बाद धनवान और सफल बन सकता है।

कुछ मामलों में एक से अधिक विवाह भी हो सकते हैं। शादी के बाहर गुपचुप अफेयर्स हो सकते हैं। एक से अधिक स्रोतों से आमदनी हो सकती है।

मेष राशि कुंडली के व्आठवें घर में

यदि मेष राशि आपकी जन्म कुंडली के आठवें भाव में आती है तो व्यक्ति में दूसरों की तुलना में बहुत अधिक सामान्य ज्ञान होगा। जमीन से जुड़े रवैये के साथ आप स्वभाव से बहुत व्यावहारिक होंगे।

भौतिकवादी इच्छा और यथार्थवादी लक्ष्यों का सही संतुलन होगा। आप जीवन में लोकप्रियता और सफलता हासिल करने के लिए कड़ी मेहनत करेंगे।

जीवन के उत्तरार्ध में योग, गूढ़ विषयों, ज्योतिष, ध्यान, अध्यात्म की ओर झुकाव हो सकता है। 32-33 साल की उम्र के बाद सफलता मिलेगी। जीवन और लोगों के प्रति परिपक्व दृष्टिकोण के साथ व्यक्ति अपने निर्णय लेने में दृढ़ रहेगा।

आठवें घर में मेष राशि का चिन्ह कम उम्र में जीवन में अपने लक्ष्य के बारे में भ्रम पैदा करता है। आप जीवन में फिल्म निर्माता, निर्देशक, कहानीकार बन सकते हैं।

मेष राशि कुंडली में 9वें घर में

यदि मेष राशि आपकी D1 कुंडली के नौवें भाव में आती है तो व्यक्ति के जीवन में बहुत सी छोटी यात्राएँ होंगी। आप स्वभाव से बहुत कठोर और जिद्दी हो सकते हैं। आप अपने धर्म और संस्कृति के प्रति बहुत कट्टर हो सकते हैं।

कोई अपनी संस्कृति, विश्वास और विचारधारा को दूसरों पर थोपने का प्रयास कर सकता है। आप धार्मिक होंगे लेकिन बहुत आध्यात्मिक नहीं। आप जीवन में वकील, अधिवक्ता, न्यायाधीश, सोशल मीडिया सेलिब्रिटी, यू ट्यूबर बन सकते हैं।

सफलता 23 साल की उम्र के बाद या 40 साल की उम्र के बाद मिलेगी। नौवें भाव में मेष राशि आपको रोजगार या धार्मिक खोज के उद्देश्य से लंबी यात्रा दे सकती है।

वैदिक ज्योतिष में मेष राशि दसवें घर में

यदि मेष राशि आपकी कुंडली के दसवें भाव में आती है तो आप लोगों में प्रसिद्धि और अधिकार पाने के लिए बहुत मेहनत करेंगे। आप जीवन में एक सार्वजनिक व्यक्ति, विद्वान, वाक्पटु वक्ता बन सकते हैं। व्यक्ति बहुत ही मितव्ययी और भावुक स्वभाव का होगा।

बहुत कम उम्र से ही जीवन में अपने लक्ष्य और सपनों को प्राप्त करने के लिए आक्रामक रूप से कड़ी मेहनत की जाएगी। सफलता 29 साल की उम्र के बाद या 42 साल की उम्र के बाद मिलेगी। कोई लेखक, पेंटर, अभिनेता, एंकर, प्रशासनिक अधिकारी, प्रोफेसर, राजनयिक आदि बन सकता है।

आप जीवन में समय के पाबंद और अनुशासित रहेंगे। परिवार से सुख और स्नेह मिलेगा।

मेष राशि जन्म कुंडली में 11वें घर में

यदि मेष राशि आपकी जन्म कुंडली के 11वें भाव में आती है तो आप वित्त और रोमांस के मामलों में भाग्यशाली होंगे। जीवन में प्रभावशाली लोगों से आपका बहुत अच्छा संपर्क रहेगा। आपके पास एक बहुत सक्रिय सामाजिक जीवन और एक बड़ा नेटवर्क सर्कल हो सकता है। आपके जीवन में कुछ भरोसेमंद दोस्त भी होंगे।

व्यक्ति को जीवन में बहुत सारे धन लाभ प्राप्त होंगे। आपके लिए धनवान और सफल बनने के लिए बहुत सारे समृद्ध और भाग्यशाली अवसर होंगे। जीवन के बाद के भाग में ढेर सारा भाग्य और धन की प्रचुरता होगी।

सफलता आमतौर पर 22 साल की उम्र के बाद या 33 साल की उम्र के बाद मिलती है। कभी-कभी 48 वर्ष की आयु के बाद सौभाग्य प्राप्त हो सकता है।

वैदिक ज्योतिष में मेष राशि बारहवें घर में

यदि मेष राशि आपकी कुंडली के बारहवें भाव में आती है तो जीवन में बहुत सारी विदेश यात्राएं होंगी। कुछ विदेशी भूमि में भी बस सकते हैं। यात्रा से सफलता मिलेगी। यात्रा, आयात-निर्यात से जुड़े व्यवसाय से आपको भरपूर धन लाभ होगा।

कुछ लोगों को विदेश में रोजगार मिल सकता है। सफलता 24 या कभी-कभी 44 वर्ष की आयु के बाद मिलेगी। कोई व्यक्ति स्वतंत्र व्यवसाय या पारिवारिक व्यवसाय से भी धनी हो सकता है। आप कामुक सुखों और भौतिकवादी संपत्ति के प्रति प्रवृत्त होंगे।

कोई यात्रा लेखक बन सकता है, यात्रा व्लॉगर बन सकता है और जीवन में प्रकृति भटक सकती है। आपका खर्च हमेशा अधिक रहेगा।

ज्योतिषी से बात करें

We use cookies in this site to offer you a better browsing experience. By browsing this website, you agree to our use of cookies & privacy policies.