सप्तम भाव में बुध का फल/ प्रभाव – प्रेम, विवाह, यौन संबंध, करियर, स्वास्थ्य

Mercury In 7th House Love, Sex, Marriage, Career, Finance, Education

सप्तम भाव में बुध का फल/ प्रभाव प्यार, यौन संबंध, करियर, स्वास्थ्य, वित्त, शिक्षा, परिवार, विवाह: – बुध ग्रह कुंडली / जन्म चार्ट के सातवें घर में: जब बुध एक व्यक्ति के कुंडली के 7वें घर में स्थित होता है , तब जातक आदर्श साथी और आदर्श विवाह के बारे में अधिक सोचेगा। उनके पास एक अलग दृष्टिकोण के साथ विवाह का विचार होगा। जातक गहन ध्यान और अपनी बौद्धिक क्षमता का उपयोग अपनी पसंद के विवाह योग्य साथी को खोजने के लिए करता है।

 लग्न से सातवें भाव में बुध ग्रह-सभी लग्न के लिए

सप्तम भाव में बुध आपको एक ऐसा जीवनसाथी प्रदान कर सकता है जो बौद्धिक रूप से उच्च पद, स्थिति, अधिकार के साथ श्रेष्ठ हो सकता है और घरेलू मामलों को बहुत आसानी से संभालने में सक्षम होगा। जीवनसाथी अपने प्रयासों में बहुत तेज़ और तत्त्पर होगा। वास्तव में, आप अक्सर ऐसे लोगों के झांसे में आ जाते हैं जो तेज दिमाग, तेज-तर्रार, जानकार और विचारोत्तेजक होते हैं। आपको अपने साथी के साथ अपने विचारों, दृष्टिकोण और सूचनाओं को संप्रेषित/ सूचित करने की प्रबल आवश्यकता और इच्छा होगी।

यह भी पढ़ें: कुंडली के तीसरे भाव पर सभी ग्रहों की दृष्टि

लग्न से सप्तम भाव में बुध-सभी लग्न के लिए-सामान्य प्रभाव:-  सप्तम भाव में बुध का प्रभाव और परिणाम एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में भिन्न हो सकता है क्योंकि सप्तम भाव, डिग्री, हानिकर और लाभकारी गरिमा, आधिपत्य, दहन, डिग्री, हानिकारक और लाभकारी पहलू, पीड़ा, युति, विभिन्न नक्षत्रों में बुध के साथ-साथ ७वें घर में बुध या बुध की शक्ति और गरिमा – ये सम्मिलित होंगे।

ऑनलाइन ज्योतिष पाठ्यक्रम

जातक का जीवनसाथी बेहद खूबसूरत और कामुक होगा। जातक के जीवनसाथी के व्यक्तित्व में शिष्टता रहेगी। जातक आकर्षक और विनोदपूर्ण भी होगा जो विपरीत लिंग के कई लोगों को जातक की ओर आकर्षित करेगा।

जातक बचकाना और मौज-मस्ती करने वाला होगा। आपका जीवनसाथी चतुर, तेज, जिज्ञासु और सतर्क होगा। जीवनसाथी भी बातूनी और हँसमुख होगा। आप ३५ वर्ष की आयु के बाद धनवान बनेंगे। आपका बड़ा सोशल नेटवर्क भी आपके करियर में मदद करेगा। जातक किसी भी संबंध को जीवित रखने और जातक के पक्ष में काम करने के लिए अतिरिक्त प्रयास करेगा।

वैदिक ज्योतिष में बुध सातवें घर में – प्रेम संबंध

कुंडली में बुध सातवें भाव में और आपका प्रेम जीवन :- आपका बौद्धिक रूप से परिपूर्ण संबंध होने की संभावना है। साथी के साथ अधिक संतोषजनक संबंध बनाने के लिए आपको आलोचना करने की अपनी इच्छा को नियंत्रण में रखना चाहिए।

जातक का प्रेम जीवन प्रारंभिक उम्र और किशोरावस्था से ही बहुत रोमांचक होगा। जातक जीवन के अलग-अलग समय में कई लोगों के प्यार में पड़ सकता है। जातक का प्रेम जीवन स्कूल के दिनों से शुरू होगा और साथ ही दिल टूटना भी होगा। लेकिन, जातक का एक प्रेम संबंध प्यार, देखभाल और दोस्ती के मजबूत बंधन के साथ गंभीर, मांगलिक, भावनात्मक होगा।

यह प्रेम संबंध जातक के जीवन में लंबे समय तक चलेगा और पारिवारिक और सामाजिक स्वीकृति के साथ विवाह में बदल सकता है। जातक अपने जीवन के प्यार से शादी कर सकता है। प्रेमी वफादार और केयरिंग रहेगा।

यह भी पढ़ें : अपनी शादी की उम्र/समय कैसे जानें/भविष्यवाणी करें या कैलकुलेट करें

वैदिक ज्योतिष में सातवें घर में बुध और यौन स्वास्थ्य

कुंडली के सातवें भाव में बुध – आपका यौन जीवन :-  जीवनसाथी के साथ शारीरिक अनुकूलता या जातक की समग्र यौन संतुष्टि में कुछ समस्या हो सकती है, खासकर जब ७वें भाव का स्वामी कमज़ोर हो। कुछ यौन विकृतियाँ या यौन अंगों में समस्याएँ आपको या आपके जीवनसाथी को जीवन में शयन-सुख का आनंद लेने से वंचित कर सकती हैं।

जीवनसाथी के साथ आपके जीवन में शारीरिक घनिष्ठता कम रहेगी। शुक्राणुओं की संख्या में या यौन अंगों में कुछ खराबी, सभी जातक के विवाहित और यौन जीवन में कुछ नाखुशी लाएंगे। कुछ दर्द संभोग या यौन क्रिया के दौरान भी हो सकता है। बच्चे पैदा करने या गर्भ धारण करने में समस्या होगी। लेकिन आपके जीवन में कम से कम 1 बच्चा ज़रूर होगा।

कुंडली/नेटल चार्ट में ७वें घर में बुध- विवाह 

लग्न से सप्तम भाव में बुध और आपका विवाह :- जातक का वैवाहिक जीवन समग्र रूप से सुखी और संतोषजनक रहेगा। जीवनसाथी हंसमुख, मिलनसार, ख़ुशदिल, गर्म और मिलनसार स्वभाव का होगा। जीवनसाथी अनेक प्रकार के कार्यों में सक्रिय और कुशल रहेंगे।

जीवनसाथी बहुत समझदार और सहयोगी होने के साथ-साथ जातकों के प्रति सहायक भी होगा। दांपत्य सुख तो रहेगा लेकिन जातक के यौन जीवन में कुछ कमी या समस्या रहेगी। जीवन साथी या जातक संभवतः अपने अंतरंग यौन जीवन से पूरी तरह संतुष्ट नहीं हो पाते हैं।

हालांकि, जातक के दांपत्य जीवन में कई मधुर क्षण और समग्र रूप से बहुत शांति और सद्भाव होगा। जीवनसाथी के पक्ष और भाग्य के कारण जातक जीवन में उन्नति करेगा। जातक को धन की प्राप्ति होगी और विवाह के बाद वह बहुत भाग्यशाली होगा।

ज्योतिषी से बात करें

Google Play Store पर हमारे ऐप्स

ऑनलाइन ज्योतिष पाठ्यक्रम

कुंडली के सातवें भाव में बुध – आपका करियर

सातवें भाव में बुध और करियर:- जातक के जीवन में अपने व्यवसाय में वृद्धि और प्रगति होगी। टेलीकॉम उद्योग, ज्योतिष या मीडिया और लेखन उद्योग में करियर जातक को सामाजिक रूप से अच्छी ऊंचाइयों पर ले जाएगा।

जातक में अपने लाभ के लिए लोगों को समझाने और मनाने की क्षमता होगी, विशेषकर करियर और व्यवसायों में। जातक एक सफल दलाल, बैंक एजेंट, बिक्री और विपणन/मार्केटिंग में विशेषज्ञ भी बन सकता है और स्वतंत्र या साझेदारी में अपने स्वयं के व्यवसाय से अपार धन अर्जित कर सकता है। बैंकिंग सेवा में नौकरी करने से जातक जीवन में अच्छी ऊंचाई और अच्छे पद पर पहुंचेगा।

जातक बीपीओ, कोचिंग संस्थान या किसी भी तरह के कॉल सेंटर से भी कमाई करेगा। जातक सलाहकार, सॉफ्टवेयर इंजीनियर, इंटीरियर डिजाइनर, आर्किटेक्ट, एयरलाइन प्रोफेशनल या होटल कर्मचारी या मैनेजर भी बन सकता है। सरकारी सेवा में जाने पर जातक एक अद्भुत और लोकप्रिय राजनयिक भी बन सकता है।

कुंडली में बुध सातवें भाव में – वित्तीय संबंध 

सातवें भाव में बुध और आपका धन:- जातक के जीवन में नक़द सम्पत्ति या नियमित दैनिक आय और कुल मासिक धन या धन के प्रवाह की कोई कमी नहीं होगी। जातक के विवाह के बाद समग्र प्रतिष्ठा और संपन्नता में वृद्धि होगी। आर्थिक रूप से जातक ३३ वर्ष की आयु के बाद उन्नत्ति होगी।

आर्थिक रूप से जातक का परिवार समृद्ध होगा लेकिन जातक विशेष रूप से ३३ वर्ष की आयु के बाद अच्छी बचत के साथ अपनी मेहनत से बहुत कुछ अर्जित करेगा। इसके पश्चात जातक की आर्थिक स्थिति अच्छी बनी रहेगी।

जातक को स्वयं के विवाह से भी आर्थिक लाभ होगा। व्यापारिक साझेदारी में अत्यधिक लाभ होगा और किसी भी प्रकार की सेवा या खरीद और बिक्री व्यवसाय में शामिल होने पर आप समृद्ध होंगे।

यह भी पढ़ें : वैदिक ज्योतिष में सर्वश्रेष्ठ और दुर्लभ विभिन्न योग

कुंडली में बुध सातवें भाव में-पारिवारिक जीवन

जातक के पारिवारिक जीवन में प्यार, शांति, खुशी और सद्भाव रहेगा। जातक को घर में काफ़ी आराम और मानसिक संतुष्टि मिलेगी। जातक की शादी कम उम्र में हो सकती है और जातक के प्रेम विवाह में भी उस के परिवार का पूरा सहयोग रहेगा।

माता-पिता जातक की शिक्षा और भलाई पर अधिक खर्च करेंगे। भाई-बहन आप की खुशी का बहुत ध्यान रखेंगे। आपका बचपन अपने परिवार के कारण विशेष रूप से अद्भुत और खुशियों से भरा होगा।

कुंडली में बुध सातवें भाव में – आपका स्वास्थ्य

जब जातक की निजी भलाई की बात आती है तो जातक का शारीरिक स्वास्थ्य प्रभावित होगा। सप्तम भाव में स्थित बुध जातक को बुखार और बैक्टीरिया के साथ-साथ त्वचा संक्रमण भी देता है। सप्तम भाव में बुध जातक को किसी भी प्रकार की बीमारी और पीड़ा से उबरने में भी समय देगा। जातक के जीवन में दवा पर कई खर्चे होंगे।

जन्म-कुंडली/ज्योतिष के ७वें घर में बुध के विशेष प्रभाव

  सप्तम भाव में स्थित बुध जातक को वाद-विवाद या किसी भी प्रकार की मुखर प्रतियोगिता में प्रभावी ढंग से और जोश से बहस करने और जीतने की विशेष क्षमता प्रदान करता है । लेकिन सातवें भाव में बुध के लोग दूसरों की सलाह, राय और सुझावों की अवहेलना नहीं करते हैं। वे ससुराल वालों और अपने पार्टनर के साथ भी एक अद्भुत बंधन साझा करते हैं।

जातक या जातक का जीवनसाथी किसी ऐसे व्यवसाय में शामिल हो सकता है जहाँ बहुत कम यात्रा करनी पड़ती है। कुल मिलाकर, जातक का जीवन सुचारू रूप से चलेगा और जातक के दैनिक जीवन में तनाव या व्यस्तता कम होगी।

ज्योतिषी से बात करें

Google Play Store पर हमारे ऐप्स

ऑनलाइन ज्योतिष पाठ्यक्रम

We use cookies in this site to offer you a better browsing experience. By browsing this website, you agree to our use of cookies & privacy policies.