Category Archives: १२ भावो का स्वामी १२ घरो में होने का फल

दशम/ दसवां भाव का स्वामी प्रथम भाव में और आपका – करियर, प्रसिद्धि, सफलता

दशम/ दसवां भाव का स्वामी प्रथम भाव में और आपका - करियर, प्रसिद्धि, सफलता

दशम/ दसवां भाव का स्वामी प्रथम भाव में और आपका – करियर, प्रसिद्धि, सफलता प्रेम, विवाह, स्वास्थ्य, विकास, अधिकार, स्थिति, भाग्य  वैदिक ज्योतिष – जन्म कुंडली के अनुसार महत्वपूर्ण वर्ष : 10 वें घर को करियर हाउस के रूप में वर्गीकृत किया गया है और दसवें स्वामी को आपके करियर का ग्रह कहा जाता है। नीचे, मैं [Know More…]

लग्नेश/ लग्न स्वामी १२वें घर में होने का फल – जेल, विदेश यात्रा और बंदोबस्त, विवाह

लग्नेश/ लग्न स्वामी १२वें घर में होने का फल - जेल, विदेश यात्रा और बंदोबस्त, विवाह

लग्नेश/ लग्न स्वामी १२वें घर में होने का फल – जेल, विदेश यात्रा और बंदोबस्त, विवाह, करियर, स्वास्थ्य, प्रेम, बिस्तर सुख, वित्त और व्यय, गुरु / विद्वान / वक्ता / आध्यात्मिकता, भाग्य / महत्वपूर्ण वर्ष: १२वें घर में प्रथम स्वामी 30 वर्ष की आयु तक अनावश्यक और लक्ष्यहीन, निष्फल यात्रा देता है। जातक को ३० या ३५ [Know More…]

We use cookies in this site to offer you a better browsing experience. By browsing this website, you agree to our use of cookies & privacy policies.
Open chat
1
Need Help?
Powered By AstroSanhita
Any doubt, do not hesitate to ask