Tag Archives: वैदिक ज्योतिष में चतुर्थ भाव में सूर्य और आपका प्रेम जीवन

सूर्य ४/ चतुर्थ भाव में – प्रेम, करियर, विवाह, वित्त, शिक्षा, परिवार – वैदिक ज्योतिष कुंडली

सूर्य ४/ चतुर्थ भाव में - प्रेम, करियर, विवाह, वित्त, शिक्षा, परिवार - वैदिक ज्योतिष कुंडली

सूर्य ४/ चतुर्थ भाव में – प्रेम, करियर, विवाह, वित्त, शिक्षा, परिवार – वैदिक ज्योतिष कुंडली: जन्म कुंडली/ लग्न कुंडली में: चौथा घर घरेलू वातावरण, पारिवारिक जीवन और पारिवारिक सुख, संपत्ति, संपत्ति, वाहन आदि से संबंधित है। पर। किसी व्यक्ति की कुण्डली में चौथे भाव में स्थित सूर्य का अर्थ है, जातक आमतौर पर घरेलू [Know More…]

We use cookies in this site to offer you a better browsing experience. By browsing this website, you agree to our use of cookies & privacy policies.
Open chat
1
Need Help?
Powered By AstroSanhita
Any doubt, do not hesitate to ask